कन्या
जगत की जीवनदायिनी शक्ति
क्यूँ है शापित जनम से
जन्म लेने के अधिकार से वंचित क्यूँ है ?
प्रकृति का कोमल उपहार
भोर की उजली किरण
जीवन की प्रथम कलि
खिलने से पहले ही मुरझाने को विवश क्यूँ है ?
कन्या
माँ ,बेटी, बहन है
जन्मदायिनी माँ की आंख का आंसू क्यूँ है ?

Comments

मार्मिक और ह्रदयस्पर्शी रचना.
Udan Tashtari said…
बहुत भावपूर्ण रचना.
Vandana ji,
Bahut achchhi hai aapki rachna. Bahut-Bahut Badhai
वर्षा said…
इसका जवाब जानते तो सब हैं,पर फिर भी...

Popular posts from this blog

२२ मार्च - विश्व जल दिवस

HOLI